Hindi

आसान नहीं ‘पद्मावत’ की राह – मान नहीं रही राजपूत करणी सेना

पद्मावत राजपूत करणी सेना

पद्मावती का नाम बदलकर पद्मावत कर दिए जाने के बाद भी लगता नहीं है कि इसकी राह इतनी आसान होगी. उच्चतम न्यायालय की ओर से संजय लीला भंसाली की फिल्म पदमावत को देशभर में रिलीज करने की हरी झंडी मिलने के बाद गुजरात में राजपूत करणी सेना जगह-जगह विरोध प्रदर्शन कर रही है. करनी सेना ने गांधीनगर के सिटीपल्स मल्टीप्लेक्स परिसर में आगजनी की है.
राजपूत करणी सेना गुजरात के अध्यक्ष राजसिंह शेखावत कह रहे है कि फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली ने बेशक फिल्म का नाम पद्मावती से पद्मावत कर दिया हो लेकिन इससे राजपूत समाज की नाराजगी कम नहीं हो जाती है. उधर सुप्रीम कोर्ट ने भले ही इस फिल्म को मंजूरी दे दी है लेकिन राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को मेवाड के इतिहास व देश की जनभावना के साथ खिलवाड़ नहीं होने देना चाहिए. करनी सेना से जुड़े पदाधिकारियों के इन बयानों के बाद यदि कोई पद्मावत की राह आसान होने की सोच रहा है तो ये असंभव सा लगने लगा है. बता दे कि सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म में तीन कट लगाकर इसे मंजूरी दे दी गई है.
अभी पद्मावत की रिलीज डेट 25 जनवरी मानी जा रही है लेकिन ये तारीख कभी नहीं आएगी और यदि आ जाती है तो उसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे, ऐसा कह कर करनी सेना ने अपने इरादे जाहिर कर दिए है.

Back to top button